vishal panwar August 15, 2020


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, वाराणसी
Updated Sat, 15 Aug 2020 12:19 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की 15 अगस्त से होने वाली वार्षिक बैठक में हिस्सा लेने के लिए सर कार्यवाह सुरेश भैय्याजी जोशी, सहकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल और सह सरकार्यवाहक दत्रात्रेय होसबोले शुक्रवार की देर रात वाराणसी पहुंच गए। रोहनिया स्थित एक सभागार में संघ की बैठक शनिवार से शुरू होगी। इसमें अलग-अलग सत्र में संघ के नेता बौद्धिक देंगे।

इसके अलावा राम मंदिर निर्माण में जन जन की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए संघ अपनी रणनीति भी बनाएगा। इस बैठक में सरसंघचालक मोहन भागवत भी शामिल होंगे। उनके शनिवार रात को वाराणसी पहुंचने की उम्मीद है।

अयोध्या में भव्य राममंदिर निर्माण के भूमिपूजन के बाद संघ की पहली बड़ी बैठक पर देशभर की निगाहें टिकी हैं। सूत्रों की मानें तो राम मंदिर निर्माण के लिए संघ हिन्दू समाज में नवनिर्माण की भावना जागृत करना चाहता है। ऐसे में गांव गांव में इसकी चर्चा और हर घर के सहयोग के लिए अभियान की तैयारी है।

वार्षिक बैठक में आरएसएस के एक वर्ष में किए गए कामों की समीक्षा होगी। इसके अलावा आगामी वर्षो के लिए ब्लू प्रिंट तैयार किया जाएगा। बैठक के अंतिम सत्र में संघ प्रमुख मोहन भागवत भी शामिल होंगे। संघ यहां की बैठक में बिहार चुनाव और आगामी यूपी के विधानसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा करेगा। इसके अलावा संघ राम मंदिर निर्माण में हर घर का योगदान अभियान को लेकर भी रणनीति बनाएगा।  

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की 15 अगस्त से होने वाली वार्षिक बैठक में हिस्सा लेने के लिए सर कार्यवाह सुरेश भैय्याजी जोशी, सहकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल और सह सरकार्यवाहक दत्रात्रेय होसबोले शुक्रवार की देर रात वाराणसी पहुंच गए। रोहनिया स्थित एक सभागार में संघ की बैठक शनिवार से शुरू होगी। इसमें अलग-अलग सत्र में संघ के नेता बौद्धिक देंगे।

इसके अलावा राम मंदिर निर्माण में जन जन की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए संघ अपनी रणनीति भी बनाएगा। इस बैठक में सरसंघचालक मोहन भागवत भी शामिल होंगे। उनके शनिवार रात को वाराणसी पहुंचने की उम्मीद है।

अयोध्या में भव्य राममंदिर निर्माण के भूमिपूजन के बाद संघ की पहली बड़ी बैठक पर देशभर की निगाहें टिकी हैं। सूत्रों की मानें तो राम मंदिर निर्माण के लिए संघ हिन्दू समाज में नवनिर्माण की भावना जागृत करना चाहता है। ऐसे में गांव गांव में इसकी चर्चा और हर घर के सहयोग के लिए अभियान की तैयारी है।

वार्षिक बैठक में आरएसएस के एक वर्ष में किए गए कामों की समीक्षा होगी। इसके अलावा आगामी वर्षो के लिए ब्लू प्रिंट तैयार किया जाएगा। बैठक के अंतिम सत्र में संघ प्रमुख मोहन भागवत भी शामिल होंगे। संघ यहां की बैठक में बिहार चुनाव और आगामी यूपी के विधानसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा करेगा। इसके अलावा संघ राम मंदिर निर्माण में हर घर का योगदान अभियान को लेकर भी रणनीति बनाएगा।  



Source link

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*