vishal panwar August 21, 2020


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, फतेहपुर
Updated Fri, 21 Aug 2020 11:27 AM IST

धूप में खड़े भूखे प्यासे गोवंश

धूप में खड़े भूखे प्यासे गोवंश
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

फतेहपुर जिले में गोवंशों से जुड़ा एक मामला सामने आया है। मलवां ब्लाक के अधिकारियों ने डीसीएम में ठूंसकर इस कदर गोवंशों को भरा की दो की मौत हो गई। गोवंश तस्करी की सूचना पर नायब तहसीलदार और पुलिस ने वाहन को पकड़ लिया। पुलिस ने सभी गोवंश उतारकर कांजी हाउस भेजा। मामले में पुलिस चालक के खिलाफ एफआईआर करने की तैयारी कर रही है।

उसके बाद बीडीओ ने पुलिस पर सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने का आरोप लगाकर एक पत्र जारी किया। अब दोनों विभाग इस मामले में आमने सामने आ गए हैं।  डीघ गांव के ग्रामीणों ने पिछले दिनों मलवां ब्लाक की बीडीओ प्रतिमा वर्मा से अन्ना मवेशियों से फसलों को हो रहे नुकसान की शिकायत की थी।

बीडीओ के आदेश पर 19 अगस्त की देर शाम को एक डीसीएम में आठ गोवंश लादकर शिवराजपुर और रावतपुर गोशाला भेजे जा रहे थे। ग्रामीणों ने रास्ते में गोवंश तस्करी होने की सूचना पुलिस को दे दी। बिंदकी कोतवाली के ललौली चौराहे पर डीसीएम को पुलिस और नायब तहसीलदार ने रोक लिया। उसमें दो गोवंश मृत पाए गए। उनका पुलिस ने पोस्टमार्टम कराया।

बाकी मवेशियों को कांजी हाउस भेज दिया। पुलिस ने डीसीएम को कोतवाली में खड़ी करा लिया। जनता गांव निवासी चालक आशीष कुमार से पूछताछ की। उसने गोवंश डीघ के ग्रामीणों द्वारा लदवाने की बात कही। पुलिस की जांच पड़ताल की। बीडीओ की ओर से एसडीएम बिंदकी आशीष कुमार को पत्र भेजा गया। जिसमें गोवंश शिवराजपुर गोशाला भेजने की बात कही गई।

बताया कि यह काम सरकारी है, इसके बाद भी बिंदकी पुलिस ने डीसीएम को पकड़ लिया। सरकारी कार्य में लगे चालक और वाहन को छुड़वाने की मांग की। एसडीएम ने बिंदकी कोतवाली पुलिस से बात की है। बीडीओ ने बताया कि मवेशियों को गोशाला शिफ्ट कराने का आदेश दिया गया था, यह नहीं मालूम था कि क्रूरतापूर्वक पशुओं को लेकर जा रहे हैं। कोतवाल सत्येंद्र सिंह ने बताया कि सरकार के कार्य हेतु वाहन जा रहा था, इसी वजह से कोई कार्रवाई नहीं की गई है।



Source link

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*