vishal panwar August 19, 2020


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ
Updated Wed, 19 Aug 2020 11:28 AM IST

सीएम योगी आदित्यनाथ
– फोटो : amar ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 की टेस्टिंग क्षमता में लगातार वृद्धि के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में प्रतिदिन 75 से 80 हजार रैपिड एंटीजन टेस्ट और 40 से 45 हजार आरटीपीसीआर विधि से टेस्ट किए जाएं। कोविड-19 से संबंधित पोर्टल को अपडेट रखा जाए। मुख्यमंत्री अपने सरकारी आवास पर उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 के लिहाज से राज्य विधान मंडल के आगामी सत्र के दौरान विशेष सावधानी बरतने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन घर पर ही किया जाए। सार्वजनिक स्थानों पर धार्मिक या सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन न हो। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरेली, गोरखपुर, प्रयागराज और बस्ती पर विशेष ध्यान दिया जाए। लखनऊ और कानपुर नगर में कोविड-19 के मामलों को नियंत्रित करने और चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएं। सभी जिलों में एएलएस और 108 एंबुलेंस सेवाओं के 50 प्रतिशत वाहन कोविड-19 संक्रमितों के लिए उपयोग किए जाएं। आईसीयू बेड्स की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।
मुख्यमंत्री ने सभी ग्राम पंचायतों में ग्राम सचिवालय की स्थापना के लिए कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि ग्राम सचिवालय के पास ही सामुदायिक शौचालय का निर्माण कराया जाए। प्रत्येक ग्राम पंचायत में आंगनबाड़ी केंद्र के निर्माण की भी कार्ययोजना बनाई जाए।

 

ग्रामीण इलाकों में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के निर्माण कार्यों में तेजी लाई जाए। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में निर्माणाधीन डेयरियों की प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि दुग्ध समितियों के गठन के लिए प्रभावी कार्यवाही की जाए। दुग्ध उत्पादकों से दूध खरीदने की व्यवस्था को भी मजबूत किया जाए। कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन कराते हुए औद्योगिक गतिविधियों का संचालन पूरी क्षमता से कराया जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 की टेस्टिंग क्षमता में लगातार वृद्धि के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में प्रतिदिन 75 से 80 हजार रैपिड एंटीजन टेस्ट और 40 से 45 हजार आरटीपीसीआर विधि से टेस्ट किए जाएं। कोविड-19 से संबंधित पोर्टल को अपडेट रखा जाए। मुख्यमंत्री अपने सरकारी आवास पर उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 के लिहाज से राज्य विधान मंडल के आगामी सत्र के दौरान विशेष सावधानी बरतने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन घर पर ही किया जाए। सार्वजनिक स्थानों पर धार्मिक या सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन न हो। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरेली, गोरखपुर, प्रयागराज और बस्ती पर विशेष ध्यान दिया जाए। लखनऊ और कानपुर नगर में कोविड-19 के मामलों को नियंत्रित करने और चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएं। सभी जिलों में एएलएस और 108 एंबुलेंस सेवाओं के 50 प्रतिशत वाहन कोविड-19 संक्रमितों के लिए उपयोग किए जाएं। आईसीयू बेड्स की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।


आगे पढ़ें

दूध खरीदने की व्यवस्था को भी किया जाए मजबूत



Source link

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*