vishal panwar August 24, 2020


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मेरठ
Updated Mon, 24 Aug 2020 12:32 PM IST

गोदाम पर पुलिस तैनात
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

उत्तर प्रदेश के मेरठ जनपद में एनसीईआरटी की 35 करोड़ रुपये से ज्यादा की नकली किताबें बरामद होने के मामले में परतापुर पुलिस ने भाजपा नेता संजीव गुप्ता की मोहकमपुर स्थित फैक्टरी (प्रिंटिंग प्रेस) को सील कर दिया। वहीं, बागपत के बड़ौत में भी एनसीईआरटी की नकली किताबों के शक में छापेमारी की गई। हालांकि वहां कुछ नहीं मिला।

पुलिस ने बताया कि मामले में गिरफ्तार किए गए चारों आरोपियों शिवम, राहुल, आकाश और सुनील को जेल भेज दिया गया है। मुख्य आरोपी संजीव गुप्ता और सचिन गुप्ता को एसटीएफ और परतापुर पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाई। उनकी तलाश में दबिश दी जा रही है। 

पुलिस के अनुसार संजीव गुप्ता के गोदाम को शुक्रवार को ही सील कर दिया गया था। संजीव और उसके भतीजे सचिन की गिरफ्तारी के लिए उनके रिश्तेदारों और संपर्क वालों की भी जांच की जा रही है। उधर, चर्चा है कि संजीव और सचिन कोर्ट में सरेंडर होने की तैयारी कर रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर भाजपा विधायक का भतीजा गिरफ्तार, एडीजी ने जताई नाराजगी

वहीं, एनसीईआरटी की नकली किताबें होने के शक में बागपत के बड़ौत में रविवार रात एसडीएम दुर्गेश मिश्र और सीओ आलोक सिंह ने वीके प्रकाशन के गोदाम पर छापा मारा। छापे के दौरान आठ किताबों के नमूने लिए गए। किताबों पर वाटरमार्क की भी जांच की गई। 

एसडीएम और सीओ ने बताया कि वीके प्रकाशन के मालिक से किताबों के बिलों की छाया प्रति मांगी गई है। इसकी पूरी रिपोर्ट सोमवार को एनसीईआरटी को भेजी जाएगी।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/

उत्तर प्रदेश के मेरठ जनपद में एनसीईआरटी की 35 करोड़ रुपये से ज्यादा की नकली किताबें बरामद होने के मामले में परतापुर पुलिस ने भाजपा नेता संजीव गुप्ता की मोहकमपुर स्थित फैक्टरी (प्रिंटिंग प्रेस) को सील कर दिया। वहीं, बागपत के बड़ौत में भी एनसीईआरटी की नकली किताबों के शक में छापेमारी की गई। हालांकि वहां कुछ नहीं मिला।

पुलिस ने बताया कि मामले में गिरफ्तार किए गए चारों आरोपियों शिवम, राहुल, आकाश और सुनील को जेल भेज दिया गया है। मुख्य आरोपी संजीव गुप्ता और सचिन गुप्ता को एसटीएफ और परतापुर पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाई। उनकी तलाश में दबिश दी जा रही है। 

पुलिस के अनुसार संजीव गुप्ता के गोदाम को शुक्रवार को ही सील कर दिया गया था। संजीव और उसके भतीजे सचिन की गिरफ्तारी के लिए उनके रिश्तेदारों और संपर्क वालों की भी जांच की जा रही है। उधर, चर्चा है कि संजीव और सचिन कोर्ट में सरेंडर होने की तैयारी कर रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर भाजपा विधायक का भतीजा गिरफ्तार, एडीजी ने जताई नाराजगी

वहीं, एनसीईआरटी की नकली किताबें होने के शक में बागपत के बड़ौत में रविवार रात एसडीएम दुर्गेश मिश्र और सीओ आलोक सिंह ने वीके प्रकाशन के गोदाम पर छापा मारा। छापे के दौरान आठ किताबों के नमूने लिए गए। किताबों पर वाटरमार्क की भी जांच की गई। 

एसडीएम और सीओ ने बताया कि वीके प्रकाशन के मालिक से किताबों के बिलों की छाया प्रति मांगी गई है। इसकी पूरी रिपोर्ट सोमवार को एनसीईआरटी को भेजी जाएगी।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/



Source link

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*