vishal panwar August 24, 2020


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

फिरोजपुर गांव में रविवार को पट्टे की जमीन पर कब्जे को लेकर हुए झगड़े में दो सगे भाइयों समेत तीन की लाठी-डंडे से पीटकर हत्या कर दी गई। दोनों पक्षों के 17 लोग घायल हुए हैं। हालत गंभीर होने पर पांच को जिला अस्पताल से हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। गांव में तनाव को देखते हुए एसडीएम और सीओ के नेतृत्व में कई थानों की फोर्स तैनात की गई है।

फिरोजपुर गांव निवासी रामचंद्र पासवान और रामखेलावन पासवान के नाम कृषि भूमि का पट्टा हुआ था। पट्टे की करीब तीन बिस्वा भूमि पर कब्जे को लेकर दोनों में वर्षों से विवाद चला आ रहा है। हाईकोर्ट के आदेश पर 17 अगस्त को तहसील प्रशासन की टीम ने विवादित भूमि से रामखेलावन का कब्जा हटवा दिया था। रविवार दोपहर बाद तीन बजे रामचंद्र और उसके परिवार के लोग उस भूमि पर दीवार बनवा रहे थे।

इसका दूसरे पक्ष के लोगों ने विरोध किया। इसको लेकर दोनों पक्षों में गालीगलौज होने लगी। इसी दौरान एक पक्ष ने हमला बोल दिया। इसके बाद दोनों तरफ से लाठी-डंडे और कुल्हाड़ी चलने लगे। एक पक्ष से रामचंद्र (55), बैजनाथ (50), अर्जुन (20), मुकेश (21), राजेश (39), भीम (22), भाना (55), विंदेश (23) और इंद्रेश (14) घायल हो गए, जबकि दूसरे पक्ष से रामखेलावन (55), रामअशीष (25), जगरनाथ (26), रवींद्र (29), राकेश (30), रामजीत (23), केशव (50), अंता (48), पुट्टल (43), इंदू (23), रागिनी (17) को चोटें आईं। सभी को खुटहन सीएचसी लाया गया।

यहां डॉक्टरों ने रामचंद्र और उनके भाई बैजनाथ को मृत घोषित कर दिया। हालत गंभीर देखकर अर्जुन, भाना, राजेश, राम खेलावन, इंदू और राकेश को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला पहुंचने पर राम खेलावन की भी मौत हो गई। घटना के बाद एसडीएम राजेश कुमार वर्मा, सीओ जितेंद्र दुबे कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। एसपी अशोक कुमार ने भी घटनास्थल का जायजा लिया।

 

एसपी ने खुटहन के प्रभारी निरीक्षक (एसओ) समेत चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया। देर शाम घटनास्थल का आईजी के निरीक्षण करने के बाद एसपी ने यह कार्रवाई की। 

फिरोजपुर गांव में रविवार को पट्टे की जमीन पर कब्जे को लेकर हुए झगड़े में दो सगे भाइयों समेत तीन की लाठी-डंडे से पीटकर हत्या कर दी गई। दोनों पक्षों के 17 लोग घायल हुए हैं। हालत गंभीर होने पर पांच को जिला अस्पताल से हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। गांव में तनाव को देखते हुए एसडीएम और सीओ के नेतृत्व में कई थानों की फोर्स तैनात की गई है।

फिरोजपुर गांव निवासी रामचंद्र पासवान और रामखेलावन पासवान के नाम कृषि भूमि का पट्टा हुआ था। पट्टे की करीब तीन बिस्वा भूमि पर कब्जे को लेकर दोनों में वर्षों से विवाद चला आ रहा है। हाईकोर्ट के आदेश पर 17 अगस्त को तहसील प्रशासन की टीम ने विवादित भूमि से रामखेलावन का कब्जा हटवा दिया था। रविवार दोपहर बाद तीन बजे रामचंद्र और उसके परिवार के लोग उस भूमि पर दीवार बनवा रहे थे।

इसका दूसरे पक्ष के लोगों ने विरोध किया। इसको लेकर दोनों पक्षों में गालीगलौज होने लगी। इसी दौरान एक पक्ष ने हमला बोल दिया। इसके बाद दोनों तरफ से लाठी-डंडे और कुल्हाड़ी चलने लगे। एक पक्ष से रामचंद्र (55), बैजनाथ (50), अर्जुन (20), मुकेश (21), राजेश (39), भीम (22), भाना (55), विंदेश (23) और इंद्रेश (14) घायल हो गए, जबकि दूसरे पक्ष से रामखेलावन (55), रामअशीष (25), जगरनाथ (26), रवींद्र (29), राकेश (30), रामजीत (23), केशव (50), अंता (48), पुट्टल (43), इंदू (23), रागिनी (17) को चोटें आईं। सभी को खुटहन सीएचसी लाया गया।

यहां डॉक्टरों ने रामचंद्र और उनके भाई बैजनाथ को मृत घोषित कर दिया। हालत गंभीर देखकर अर्जुन, भाना, राजेश, राम खेलावन, इंदू और राकेश को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला पहुंचने पर राम खेलावन की भी मौत हो गई। घटना के बाद एसडीएम राजेश कुमार वर्मा, सीओ जितेंद्र दुबे कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। एसपी अशोक कुमार ने भी घटनास्थल का जायजा लिया।

 



Source link

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*