vishal panwar August 22, 2020


जयपुर: गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) पर सोना और चांदी की खरीद परंपरा का हिस्सा रही है. अधिकतर लोग इस दिन कीमती धातुओं के घर में प्रवेश को प्रमुखता देते हैं लेकिन इस बार सोने-चांदी की बढ़ी हुई कीमतें और कोरोना संक्रमण से प्रभावित अर्थव्यवस्था ने ज्वैलरी की खरीद पर असर डाला है. 

गणेश चतुर्थी के दिन बाजारों में सुस्ती है हालांकि बड़े निवेशकों के हाथों इन दिनों सोना खेल रहा है. गणेश चतुर्थी पर घरेलू बाजार केवल लाइट वेट ज्वैलरी के भरोसे हैं हालांकि कारोबारियों को उम्मीद है गणेश चतुर्थी महीने भर का खर्च बिक्री में इजाफे से निकालेगी.

यह भी पढ़ें- राजस्थान में भगवान गणेश की जन्मोत्सव की धूम, घर में ही बन रहे ईको-फ्रेंडली बप्पा

 

कोरोना महामारी और जियो पॉलिटिकल टेंशन के बीच सोने और चांदी की कीमतों में जोरदार तेजी देखने को मिल रही है. पिछले पांच महीने के दौरान चांदी की कीमतें दोगुनी हो गई हैं. और सोना कीमतों में पचास फीसदी से अधिक का उछाल है. चांदी में निवेशकों को जोरदार मुनाफा हुआ है. मांग और मौजूदा रुख को देखते हुए दीवाली तक चांदी का भाव लगातार तेज रहने की संभावना है. यहीं वजह है कि गणेश चतुर्थी पर बड़े घरेलू खरीददार दूर हैं. केवल परंपरा के नाम पर कीमती धातुओं की खरीद की जा रही है. 

यह भी पढ़ें- करौली: गणपति की भक्ति में सराबोर हुआ टोडाभीम कस्बा, सुबह-सवेरे गूंजे बप्पा के जयकारे

 

जयपुर सराफा कमेटी के अध्यक्ष कैलश मित्तल का कहना है कि इस बार अधिक कारोबार की उम्मीद ज्वैलर्स को नहीं थी, वजह कीमतों में जबरदस्त तेजी और कोरोना से बिगड़े हालात हैं. हालांकि गणेश चतुर्थी पर ऑफर्स जारी कर बिक्री बढ़ाने की कोशिश हुई है. लाइटवेट ज्वैलरी की मांग दिख सकती है. कारोबारी और ट्रेडिंग विशेषज्ञ मोतीलाल शर्मा का कहना हैं कि कीमतों में तेजी और स्वास्थ्य परेशानियों से बाजार में उत्साह कम है, हालांकि त्यौहारी सीजन का लाभ बिक्री को मिलेगा.

घरेलू खरीद भले ही सुस्ती के मोड पर हो, लेकिन विश्व की अर्थव्यवस्था पर कोरोना के साए के बीच निवेशकों की पसंद स्थायी निवेश बना है. यहीं वजह है कि कोरोना संक्रमण और अमेरिका तथा चीन के बीच तनाव से सोने और चांदी की कीमतें रोज नया रिकॉर्ड बना रही हैं. अमेरिका और चीन की खटास से कीमती धातुओं में रिकॉर्ड तेजी का माहौल जारी है. कीमतों में तेजी से फेस्टिवल सीजन में खदरा ग्राहकी की रौनक गायब है, वहीं बड़े निवेशक कायम है. गणेश चतुर्थी के बाद कारोबारियों को उम्मीद है की कोरोना वैक्सीन बाजार में होगी और अर्थव्यवस्था की हेल्थ भी सुधरेगी, जिसका असर बाजार और कारोबार पर दिखेगा.

 





Source link

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*