vishal panwar August 22, 2020



ये किताबें आर्मी स्कूल में भी पहुंचीं. शक होने पर आर्मी ने अपने स्तर से इसकी जांच कराई, जिसमें पता चला कि ये किताबें मेरठ के परतापुर इलाके में छापी जा रही हैं. आर्मी इंटेलीजेंस ने इसकी सूचना यूपी एसटीएफ और स्थानीय पुलिस को दी.



Source link

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*