vishal panwar August 23, 2020


दरअसल मरीज अस्पताल की खिड़की से जीने पर आकर कूदने वाला ही था कि डॉक्टर की नजर उस पड़ गई. जैसे ही डॉक्टर की नजर उस पर पड़ी, वैसे ही वह पीपीई किट में मरीज के पास पहुंच गया और उसकी जान बचा ली.





Source link

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*