vishal panwar August 23, 2020


कोडरमा: मां के साथ चूड़ी बेचने से लेकर आईएएस बनने तक का सफर पूरा करने वाले कोडरमा उपायुक्त रमेश घोलप के लिए गणपति उत्सव ख़ास मायने रखता है. 2012 बैच के आईएएस और कोडरमा उपायुक्त रमेश घोलप पूरे भक्तिभाव के साथ अपनी पत्नी और बच्चों के साथ गणेश उत्सव मना रहे हैं और 10 दिनों तक भगवान गणेश कोडरमा उपायुक्त आवास में विराजे रहेंगे.

कोडरमा उपायुक्त रमेश घोलप के लिए गणेश उत्सव खासा मायने रखता है. बहरहाल, वे इसकी तैयारी में पिछले दो दिनों से जुटे है. मिट्टी मूर्ति तैयार करने, उसमे रंग भरने से लेकर घर में मूर्ति स्थापित करने और पूरे डेकोरेशन का काम खुद उपायुक्त रमेश घोलप ने किया है. 

महाराष्ट्र के रहने वाले कोडरमा उपायुक्त रमेश को पिछले 8 सालों से गणपति उत्सव के मौके पर महाराष्ट्र जाने का मौका तो नहीं मिला, लेकिन झारखंड के अलग-अलग जिलों में रहकर उन्होंने बखूबी गणेश उत्सव मनाया है. 

उपायुक्त रमेश घोलप के लिए गणेश उत्सव के क्या मायने हैं, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले दो दिनों से गणेश उत्सव की तैयारी में जुटे थे. कोरोना संक्रमण के बीच इस बार उपायुक्त रमेश घोलप सिर्फ अपनी पत्नी रूपाली घोलप और दोनो बच्चे अक्षित और दिंगत के साथ ही गणेश उत्सव मना रहे हैं.

उपायुक्त रमेश घोलप ने कहा कि पिछले 8 सालों से गणेश उत्सव महाराष्ट्र में मनाने का अवसर नही मिल पा रहा है. वहां के गणपति उत्सव को मिस कर रहे हैं, लेकिन हर साल झारखंड के अलग-अलग जिलों में ही गणेश उत्सव मनाते आ रहे हैं.

उन्होंने आम लोगों से अपील करते हुए कहा कि इस बार कोरोना वायरस की वजह से लोग गणेश उत्सव पर बाहर ना निकले और घरों में रहकर ही भगवान गणेश की आराधना करें. उन्होंने कहा कि गणेश उत्सव उनके जिंदगी में खासा मायने रखता है और कोरोना संक्रमण के बीच पर्यावरण संरक्षण के मद्देनजर उन्होंने इको फ्रेंडली मूर्ति खुद से तैयार की है और इसका विसर्जन भी वे अपने आवासीय परिसर में ही करेंगे. 

इसके साथ ही खास तौर पर उन्होंने भगवान गणेश की प्रतिमा के साथ अमरूद का पौधा भी रखा है और विसर्जन के दौरान ही अमरुद के पौधे को अपने आवासीय परिसर में लगाएंगे. उन्होंने बताया कि जिस तरह से लोग बिहार-झारखंड में दुर्गा पूजा का जश्न मनाते हैं, उसी तरह से महाराष्ट्र में हर घर में गणपति उत्सव मनाया जाता है, और हर घर में बप्पा पधारते हैं, उन्होंने कहा कि धीरे-धीरे झारखंड में भी गणपति उत्सव के प्रति की धूम देखी जा रही है. 





Source link

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*