vishal panwar August 22, 2020


जयपुर: भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी को गणेश चतुर्थी का पर्व सिद्धियोग, रवियोग, हस्त नक्षत्र सहित विशेष संयोगों में मनाया गया. छोटीकाशी में घरों से लेकर मंदिरों में दिनभर प्रथम पूज्य की आराधना का दौर चला. कोरोना संक्रमण के चलते मोतीडूंगरी गणेश मंदिर, गढ़ गणेश, नहर के गणेश, ध्वजाधीश गणेश, श्वेत सिद्धि विनायक, बंगाली बाबा गणेश सहित विभिन्न गणेश मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ नदारद रही. 

ये भी पढ़ें: गणेश चतुर्थी पर भी कोरोना का साया, सोने-चांदी के खरीद उत्साह में दिखी कमी

पूरी तरह से मंदिर परिसर के बाहर सन्नाटा पसरा रहा. लोग मंदिर से कुछ मीटर की दूरी पर प्रथम पूज्य के हाथ जोड़ते हुए नजर आए. हालांकि सभी मंदिर प्रबंधनों ने वेबसाइट के जरिए ईदर्शन की व्यवस्था की. सभी मंदिरों के बाहर पुलिस का पहरा भी नजर आया. मंदिरों में सभी कार्यक्रम बिना भक्तों की आवजाही के मंदिर महंत परिवार और पुजारियों के सान्निध्य में हुए. श्रद्धालुओं ने घरों में विराजित द्वारपाल गणेशजी का अभिषेक कर सिंदूरी चौला धारण कराकर गुड़धानी और मोदक का भोग लगाया और आरती उतारी. 

मराठी समाज के लोगों ने घरों और गणपति पांडालों में गणेशजी की विधिवत स्थापना की. मोतीडूंगरी गणेश मंदिर में देर रात से लगने वाली लंबी लाइनें इस बार नहीं लगी. महंत कैलाश शर्मा के सान्निध्य में जन्मोत्सव दर्शन सुबह 5 बजे मंगला आरती से शुरू होकर रात शयन आरती 10 बजे. सुबह 11:25 बजे विशेष पूजन कर साढ़े ग्यारह बजे शृंगार आरती की. माणक-पन्ना युक्त सोने का मुकुट और नौलखा हार धारण किए गणेशजी चांदी के सिंहासन पर विराजमान रहे. हर साल की तरह भरने वाला लक्खी मेला इस बार नहीं भरा. ब्रह्मपुरी पावर हाउस के पीछे स्थित दाहिनी सुंड वाले नहर के गणेशजी मंदिर में महंत जय शर्मा के सान्निध्य में गणेश जन्मोत्सव मनाया गया. 

सूरजपोल बाजार स्थित श्वेत सिद्धि विनायक मंदिर में महंत मोहन लाल शर्मा के सान्निध्य में विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम हुए. ठिकाना मंदिर गोविंददेवजी के मातहत कनक घाटी स्थित गणेश मंदिर में गुड़धानी, विभिन्न प्रकार मोदक, फल, नारियल का भोग अर्पित कर डंके चढ़ाए. इसके बाद महाआरती हुई. दिल्ली रोड बाईपास स्थित बंगाली बाबा स्थित गणेश मंदिर में सुबह प्रथम पूज्य का पंचामृत अभिषेक कर सिंदूर अर्पित किया गया. इसके बाद मोदकों का भोग लगाया गया. फूल बंगला झांकी सजाकर महाआरती उतारी गई. चांदपोल स्थित परकोटे वाले गणेश मंदिर में गणेशजी महाराज का अभिषेक किया गया. बड़ी चौपड़ के ध्वजाधीश गणेश में मंदिर में अभिषेक सहित अनेक आयोजन हुए.

ये भी पढ़ें: राजस्थान के इन जिलों में 5 दिन होने वाली है झमाझम बारिश, मौसम विभाग ने दी चेतावनी





Source link

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*