vishal panwar August 22, 2020


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, बागपत
Updated Sat, 22 Aug 2020 06:47 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

बागपत में हथिनी कुंड से शुक्रवार को यमुना में छोड़ा गया नौ हजार क्यूसेक पानी शनिवार को बागपत पहुंच गया है। इससे जलस्तर 40 सेंटीमीटर तक बढ़ गया। अब यमुना नदी खतरे के निशान से 20 सेंटीमीटर नीचे बह रही है। शनिवार को यमुना में दस हजार क्यूसेक पानी और छोड़ा गया है, जो रविवार तक बागपत पहुंच जाएगा। इसे देखते हुए प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। 

हथिनीकुंड से लगातार पानी छोड़े जाने के कारण यमुना का जलस्तर बढ़ रहा है। इससे किसानों की चिंता भी बढ़ रही है। जिले के 23 गांव यमुना के किनारे बसे है, जिससे इन गांवों के किसानों का फसल बर्बाद होने का डर है।

शुक्रवार को यमुना का जलस्तर खतरे के निशान से 60 सेंटीमीटर नीचे था, जो शनिवार को 40 सेंटीमीटर बढ़ गया है। यमुना अब खतरे के निशान से 20 सेंटीमीटर नीचे बह रही है। इसी को देखते हुए प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। बाढ़ नियंत्रण के लिए बड़ौत में कंट्रोल रूम भी स्थापित कर दिया गया है। किसी भी आपात स्थिति में 01234-251131 पर कॉल कर स्थिति से अवगत कराया जा सकता है। 

डीएम शकुंतला गौतम ने शुक्रवार को यमुना के जलस्तर का निरीक्षण किया था। उनके निर्देश पर यमुना के किनारे बसे गांवों को चिह्नित किया जा रहा है। बाढ़ नियंत्रण के लिए जिले में 16 बाढ़ चौकियां बनाई गई है। इनमें 12 चौकियां यमुना नदी के तट पर तथा चार चौकियां हिंडन नदी के तट पर स्थापित की गई है। 

कटान रोकने के लिए स्टॉक पूरा 
बाढ़ नियंत्रण के नोडल अधिकारी संजीव कुमार ने बताया कि यमुना खतरे के निशान से नीचे बह रही है, जिले में अभी बाढ़ की संभावना नही है। प्रशासन ने बाढ़ से निबटने के लिए तैयारी पूरी कर ली है। कटान रोकने के लिए सीमेंट के बोरों व लकड़ी की बल्लियों का स्टॉक पूरा कर लिया गया है। प्रशासन किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/

सार

  • प्रशासन ने किया अलर्ट जारी, कंट्रोल रुम स्थापित, आपात स्थिति में 01234-251131 पर करें कॉल 
  • हथिनी कुंड से शनिवार को छोड़ा गया और दस हजार क्यूसेक पानी, जो रविवार तक पहुंचेगा

विस्तार

बागपत में हथिनी कुंड से शुक्रवार को यमुना में छोड़ा गया नौ हजार क्यूसेक पानी शनिवार को बागपत पहुंच गया है। इससे जलस्तर 40 सेंटीमीटर तक बढ़ गया। अब यमुना नदी खतरे के निशान से 20 सेंटीमीटर नीचे बह रही है। शनिवार को यमुना में दस हजार क्यूसेक पानी और छोड़ा गया है, जो रविवार तक बागपत पहुंच जाएगा। इसे देखते हुए प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। 

हथिनीकुंड से लगातार पानी छोड़े जाने के कारण यमुना का जलस्तर बढ़ रहा है। इससे किसानों की चिंता भी बढ़ रही है। जिले के 23 गांव यमुना के किनारे बसे है, जिससे इन गांवों के किसानों का फसल बर्बाद होने का डर है।



Source link

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*