vishal panwar August 23, 2020


नई दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि अगर सब कुछ ठीक रहा तो भारत को कोरोना वायरस (Coronavirus) की रोकथाम वाला वैक्सीन इस साल के आखिर तक मिल जाएगा. भारत में कोविड-19 के तीन वैक्सीन विकास के विभिन्न चरणों में हैं. इनमें से दो वैक्सीन स्वदेशी हैं.

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने हाल ही में बताया था कि कोविड-19 के दो स्वदेशी वैक्सीनों के ह्यूमन ट्रायल का पहला चरण पूरा हो गया है और परीक्षण दूसरे चरण में पहुंच चुका है. इनमें से एक टीके को भारत बायोटेक ने आईसीएमआर के साथ मिलकर विकसित किया है और दूसरा टीका जाइडस कैडिला लिमिटेड ने तैयार किया है.

पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित कोविड-19 के वैक्सीन के दूसरे और तीसरे चरण का ह्यूमन ट्रायल करने की अनुमति दे दी गई है. अगले सप्ताह परीक्षण शुरू हो सकता है.

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने शनिवार को ट्वीट किया, ‘मैंने उम्मीद जताई है कि अगर सब कुछ ठीक रहा तो भारत इस साल के आखिर तक कोरोना वायरस का टीका हासिल कर लेगा.’

इस बीच आईसीएमआर भारत और विदेशों में कोविड-19 के वैक्सीन के विकास के बारे में जानकारी देने के लिए एक पोर्टल बना रहा है, जिस पर अंग्रेजी के अलावा कई क्षेत्रीय भाषाओं में जानकारी दी जाएगी.

आईसीएमआर में महामारी विज्ञान एवं संचारी रोग विभाग के प्रमुख समीरन पांडा ने शनिवार को बताया कि पोर्टल बनाने का उद्देश्य कोविड-19 के टीके के विकास के बारे में जानकारी एक ही जगह पर उपलब्ध करवाना है क्योंकि अभी इस सबंध में सूचनाएं बिखरी हुई हैं. पोर्टल अगले हफ्ते तक शुरू हो सकता है.





Source link

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*